रविवार, 4 नवंबर 2018

सुंदर चिड़िया

एक समय की बात है जबकि लिम्पोपो नदी के पास एक बूढ़ा व्यक्ति और उसकी पत्नि रहते थे ! हरेक सुबह बूढ़ी स्त्री, नदी तक जाती और घड़े में पानी भर कर लाया करती, चूंकि उसकी उम्र अधिक हो चली थी, सो उसके लिए पानी से भरा हुआ घड़ा लेकर वापस घर लौटना कठिन हो चला था ! बूढ़े ने अपनी पत्नि से कहाअगर तुम सहमत हो जाओ तो मैं किसी युवा और ताकतवर स्त्री से दूसरा ब्याह कर लूं जो कि लकड़ियां काटने और नदी से पानी लाने में तुम्हारी मदद कर सके ! बूढ़ी पत्नि ने इस प्रस्ताव पर अपनी सहमति दे दी ! इसके बाद बूढ़े ने लिम्पोपो नदी के दूसरी ओर, सघन जंगल में, जहां अंजीर के बड़े बड़े वृक्ष थे और रात में हाथियों के चिंघाड़ने की आवाज़ें आया करती थीं, स्थित किसी छोटे से टोले में रहने वाली युवती से ब्याह कर लिया ! बूढ़े की युवा पत्नि अपने साथ मिट्टी का एक घड़ा लाई थी जिसे वो अपने शयन कक्ष के दरवाजे के पीछे रखा करती थी ! बहरहाल कुछेक दिनों के बाद बूढ़ी और युवा पत्नि के बीच का तनाव, खुलकर सामने आने लगा ! 
एक दिन बूढ़ी ने उस युवती से कहा कि जब मैं तुम्हें पानी लाने के लिए भेजती हूं तो तुम नदी में इतनी देर तक क्या करती रहती हो ? युवती यह सुनकर मुस्कराई और वहां से अलग हट गयी ! इस पर बूढ़ी और उसका पति सलाह मांगने के लिए गुनिया के पास गए ! गुनिया को देने के लिए उनके पास, एक मुर्गा भी था पर गुनिया ने कहा, यह प्रकरण जटिल है, मुर्गे से काम नहीं चलेगा, तुम एक बकरा लाओ ! अगले दिन वृद्ध पति और पत्नि, गुनिया के पास एक बकरा लेकर पहुंचे तो उसने कहा, तुम सुबह जल्दी उठकर नदी के पास झाड़ियों में छुप जाना और सावधानीपूर्वक देखना कि वो युवती अपने घड़े में पानी भरते हुए और क्या क्या करती है ! अगली सुबह बूढ़े ने ऐसा ही किया, वो यह देख कर हैरान रह गया कि युवा पत्नि ने नदी तट पर पहुंच कर जैसे ही घड़े का ढक्कन खोला, उसमें से एक बेहद खूबसूरत चिड़िया बाहर निकली और पास के दरख़्त की शाख पर बैठ कर गाने लगी और वो युवती, चिड़िया को एकटक निहारते हुए, उसका गाना सुनने लगी !
अचानक उसे लगा कि काफी देर हो चुकी है, तो उसने घड़े में पानी भरा और चिड़िया को अपने कपड़ों में छुपा कर घर वापस आ पहुंची, फिर घड़े का पानी खाली करके उसने, चिड़िया को घड़े में छुपाकर अपने शयन कक्ष में रख दिया ! इस घटनाक्रम का ब्यौरा देने बूढ़ा फिर से गुनिया के पास जा पहुंचा तो उसने कहा कि इस मुद्दे पर सलाह देने के लिए मुझे, तुमसे दो बकरे चाहिए ! उस बूढ़े ने ऐसा ही किया ! बकरे पाकर गुनिया ने बूढ़े से कहा कि उस चिड़िया को मार डालो ! रात में ये बात बूढ़े ने अपनी बूढ़ी पत्नि को बताई, लेकिन बूढ़ी पत्नि थोड़ी बहरी थी, सो बूढ़े को उसे, किस्सा बयान करने के लिए, ऊंचे सुर में बात करना पड़ी, जिसे युवती और चिड़िया ने सुन लिया ! अगली सुबह बूढ़े और बूढ़ी के जागने से पहले युवती ने अपना सामान बांध लिया और बूढ़े का घर छोड़ने के लिए तैयार हो गयी ! इस वक्त वो चिड़िया घड़े के ढक्कन के ऊपर बैठी थी ! युवती चिल्लाई, तुमने इस खूबसूरत चिड़िया को मारने की योजना बनाई जो कि मेरे लिए मेरी संतान के जैसी है ! इसलिए अब मैं यहां एक पल भी नहीं रुक सकती और वो वहां से चली गयी...